1 जुलाई से मोदी सरकार ला रही नई योजना, मुनाफा कर देगा हैरान - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

28 June 2020

1 जुलाई से मोदी सरकार ला रही नई योजना, मुनाफा कर देगा हैरान

देश में कोरोना संकट के बीच केंद्र सरकार अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कई अहम कदम उठा रही है. हाल ही में पीएम मोदी ने देश को 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की सौगात दी थी, जिसका मकसद गरीब, व्यापारी, किसान आदि वर्ग को फायदा पहुंचाना था. हालांकि इस योजना के तहत केंद्र ने गाइडलाइंस भी जारी कर दी है. जिन्हें इसका लाभ मिलेगा. बहरहाल इस बीच रविवार को एक और बड़ी योजना की सौगात देने का फैसला केंद्र ने किया है. दरअसल सरकार ने एक जुलाई से टैक्सेबल फ्लोटिंग रेट वाले बचत बॉन्ड 2020 पेश करने का निर्णय लिया है. बताया जा रहा है कि इसके तहत लोगों को सुरक्षित सरकारी साधनों में निवेश करने का अवसर मिलेगा. वहीं वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि नई योजना को 7.75 फीसदी वाले टैक्सेबल बचत 2018 के स्थान पर लाया जा रहा है. हालांकि इससे पहले उक्त बॉन्ड को 28 मई 2020 के बाद से बंद कर दिया गया है. ताकि नई योजना का लाभ लोगों को मिल सके.

वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि इन बॉन्ड को न्यूनतम 100 रुपए और अधिकतम 1,000 रुपए प्रति इकाई की दर से जारी किया जाएगा. इन बॉन्ड को नकद, ड्राफ्ट, चेक या इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से भी खरीदा जा सकेगा. बता दें कि नकदी से सिर्फ 20 हजार रुपए तक के बॉन्ड खरीदने की सुविधा होगी. वहीं सरकार की ओर से ये बॉन्ड रिजर्व बैंक (RBI) जारी करेगा. जिसको लेकर रिजर्व बैंक ने भी इस बारे में अलग से अधिसूचना जारी की है.



बयान में कहा गया कि नए बचत बॉन्ड 7 साल के होंगे और इनके ऊपर साल में दो बार 1 जनवरी और 1 जुलाई को ब्याज दिया जाएगा. एक जनवरी 2021 को दिया जाने वाला ब्याज 7.15 फीसदी की दर से होगा. हर अगली छमाही के लिये छह-छह महीने के बाद ब्याज का नये सिरे से निर्धारण किया जाएगा. बॉन्ड को किसी भी सरकारी बैंक, IDBI बैंक, ऐक्सिस बैंक, HDFC बैंक और ICICI बैंक से खरीदा जा सकता है. बॉन्ड को केवल इलेक्ट्रॉनिक रूप में खरीदा जा सकता है. बॉन्ड खरीदते ही यह निवेशक के बॉन्ड लेजर अकाउंट में ट्रांसफर हो जाएगा.

हालांकि इस बात की जानकारी भी दी गई है कि इनके ऊपर ब्याज के एकमुश्त भुगतान का विकल्प नहीं होगा. बॉन्ड का पुनर्भुगतान उसके जारी होने के सात साल पूरा होने पर किया जाएगा. उससे पहले आप नहीं कर सकते हैं. साथ ही ब्याज से होने वाली कमाई का टैक्स भी नियमों के तहत देना होगा. ब्याज इनकम पर बाद में TDS भी कटेगा. कैश में अधिकतम 20 हजार रुपये का बॉन्ड खरीदा जा सकता है.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment